Holi के केमिकल रंगों से पहुंच सकता हैं शरीर को नकुसान

0
10

Holi रंगों से शरीर को हो सकते हैं ये बड़े नुकसान, होली खेलने के बाद हम शरीर पर लगे रंगों को गंभीरता से नहीं लेते तो आगे चलकर खतरनाक साबित हो सकता है.

हेल्थ डेस्क,लोक हस्तक्षेप

Holi में हम अपने आपको रंग खेलने से रोक नहीं पाते हैं. आजकल बाजार में केमिकल युक्त रंगों की भरमार है.

होली रंगों का त्यौहार है. इस त्यौहार को सभी धूमधाम से मनाते हैं.

मगर होली के कलर में केमिकल मिले होने की वजह से इसे त्वचा से छुड़ाना काफी मुश्किल हो जाता है. जिसकी वजह से कई बार आपको स्किन प्रॉब्लम्स भी हो जाती है.

यह भी पढ़ें:Zoya akhtar ने उठाए सहमति से संबंध की बजाय महिलाओं के शारीरिक शोषण पर सवाल

इस दौरान सभी प्रकार के अच्छे और खराब रंग हमारे शरीर के संपर्क में आते हैं, जो हमारे शरीर को काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं.

Holi के रंग में केमिकल्स होते हैं जिन्हें त्वचा से हटाने में काफी दिक्कत होती है

होली खेलने के बाद हम इसे गंभीरता से नहीं लेते तो आगे चलकर खतरनाक साबित हो सकता है.

केमिकल से बने रंगों से शरीर को ये नकुसान पहुंच सकते हैं.

Holi खेलते समय आंखों के अंदर रंग जाने का सबसे अधिक खतरा रहता है. आंखों में रंग जाने से जलन होना और लाल होना तो सामान्य बात है.

इसके अलावा केमिकल से बना रंग आंखों के अंदर जाने से रोशनी भी जा सकती है.

केमिकल युक्त रंग त्वचा को काफी नुकसान पहुंचाते हैं.

रंग लगने के बाद खुजली पड़ना, दाग पड़ जाना और सूजन पड़ जाना जैसी समस्याएं सामने आती हैं.वहीं, स्किन कैंसर का खतरा बना रहता है.

यह भी पढ़ें:Lucknow की हवा दिल्ली से ज्यादा जहरीली:रिपोर्ट

लोगों का मानना होता है कि सूखे रंग से Holi खेलना अधिक सुरक्षित होता है लेकिन ऐसा नहीं होता है.

सूखा रंग हवा में मिलकर आपके नाक और मुंह के जरिए शरीर के अंदर पहुंच जाता है. जो कि दमा और सांस जैसी बीमारियों को जन्म देता है.

बाजार में बिक रहे केमिकल से बने रंग बालों को प्रभावित करते हैं.

बालों में रंग लगने के बाद बाल झड़ने, डैंड्रफ जैसी कई समस्याएं होती है.

Holi में इस्तेमाल होने वाले रंगों में मेटल ऑक्साइड मिला होता है, जो बालों को नुकसान पहुंचाता है

इसलिए रंग खेलने से पहले बालों पर नारियल या सरसों का तेल लगा लें.

Holi में रंग खेलने से पहले शरीर पर तेल लगा लें. जिससे रंग ज्यादा देर तक शरीर पर नहीं टिकेगा.

इसके अलावा कान, नाक, आंख के आसपास वैसलीन लगा लें. ऐसा करने से हानिकारक रंग त्वचा के अंदर नहीं जा पाएंगे.

Holi में लगे रंग को उतारने के लिए लोग अक्सर गर्म पानी का इस्तेमाल करते हैं, जबकि इससे तो रंह और ज्यादा पक्का हो जाता है.

इसके अलावा स्किन भी सूख जाती है. इसलिए हमेशा रंग छुड़ाने के लिए ठंडे पानी का इस्तेमाल करें.

Holi में कई बार लोग रंग छुडाने के लिए केरोसीन ऑयल, पेट्रोल आदि का इस्तेमाल करते हैं

ऐसा करने से शरीर पर दाने निकल सकते हैं.

रंग छुड़ाने के लिए घर में बना बेसन का पेस्ट का प्रयोग सबसे बेहतर उपाय है.

Follow us on Facebook

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here