Ind vs SA 2nd ODI: टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को नौ विकेट से हरा जीत लिया सेंचुरियन

0
23
India vs South Africa 2nd ODI

भारतीय टीम ने छह वनडे मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल की

नई दिल्ली:LNN: India vs South Africa 2nd ODI : दूसरा एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में दक्षिण अफ्रीका द्वारा दिए गए 119 के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने

India vs South Africa 2nd ODI में दक्षिण अफ्रीका 9 विकेट से हराकर छह वनडे मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली.

दक्षिण अफ्रीका टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 32.2 ओवरों में सिर्फ 118 रन पर ढेर हो गई.

जवाब में भारत ने लंच के बाद 20.3 ओवरों में एक विकेट के नुकसान पर आसानी से जीत हासिल कर ली.

ये भी पढ़ें: UNDER 19 WORLD CUP : ऑस्ट्रेलिया को हरा चौथी बार वर्ल्ड चैंपियन बना भारत

शिखर धवन 51 और कप्तान विराट कोहली 44 रन बनाकर नाबाद रहे.

टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के दम पर मेजबान टीम को 118 रनों पर ढेर कर दिया.

दक्षिण अफ्रीका टीम के लिए सबसे ज्यादा 25 रन जेपी डुमिनी ने बनाए.

India vs South Africa 2nd ODI : पांच विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल को मैन ऑफ द मैच चुना गया

मामूली टारगेट का पीछा करते हुए भारत ने 20.3 ओवरों में एक विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल कर लिया.

इस मैच में अंपायरों ने तब लंच का ऐलान कर दिया, जब भारत को जीत के लिए सिर्फ 2 ही रन बनाने थे.

इससे लंच के समय थोड़ा विवाद भी देखने को मिला. लंच का ऐलान से विराट कोहली काफी नाराज दिखाई पड़े,

लेकिन अंपायरों ने कहा कि वह नियमों के हिसाब से अपने काम को अंजाम दे रहे हैं.

भारत की तरफ से सलामी बल्लेबाज शिखर धवन नाबाद 51 और कप्तान विराट कोहली नाबाद 46 ने दूसरे विकेट के लिए 93 रन की अटूट साझेदारी की.

भारत ने आखिर में 177 गेंद शेष रहते हुए जीत हासिल की.

जो उसकी शेष गेंदों के हिसाब से भारत से बाहर किसी टेस्ट खेलने वाले देश पर सबसे बड़ी जीत है.

इस लिहाज से यह साउथ अफ्रीका की अपनी सरजमीं पर सबसे बड़ी हार है.

चहल का प्रदर्शन साउथ अफ्रीका में किसी भारतीय स्पिनर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.

इससे पहले युवराज सिंह ने 2003 में पीटरमैरित्जबर्ग में छह रन देकर चार विकेट लिए थे.

चहल साउथ अफ्रीकी सरजमीं पर पांच विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज बने

उनसे पहले आशीष नेहरा ने 2003 में पोर्ट एलिजाबेथ में इंग्लैंड के खिलाफ 23 रन देकर छह विकेट लिए थे.

दक्षिण अफ्रीका टीम पहले बल्लेबाजी की शुरुआत की. उसे पहला झटका 10वें ओवर में लगा, जब हाशिम अमला 10 रन बनाकर आउट हुए.

अंपायर ने भुवनेश्वर की गेंद पर हाशिम को विकेट के पीछे कैच करार दिया.

बंयहत्था क्विंटन डि कॉक को 12वें ओवर की आखिरी गेंद पर युजवेंद्र चहल ने क्या आउट किया.

कुलदीप यादव ने 13वें ओवर में नए कप्तान एडेन मार्करैम और डेविड मिलकर को आउट किया.

इसके बाद एक छोर पर जेपी डुमिनी ने 25 रन बनाकर अपनी ओर से कोशिश की,

दूसरे छोर पर युजवेंद्र ने विकेट लेना जारी रखा.पूरी दक्षिण अफ्रीकी टीम का 32.2 ओवरों में आउट हो गई.

भारत के युजवेंद्र ने तीन,कुलदीप यादव ने तीन और जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार ने एक-एक विकेट लिया.

Follow us on Facebook.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here