Kasganj riot: नेताओं के विवादित बयान बिगाड़ रहा माहौल

0
17

Kasganj riot को योगी सरकार के मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने छोटी घटना करार दिया

नई दिल्ली:LNN: गणतंत्र दिवस के दिन Kasganj riot के बाद जिले में तनाव की स्थिति बनी हुई है.

इस बीच नेताओं के बयान कासगंज के शान्त होते माहौल को बिगाड़ने का काम कर रहे हैं.

एक टीबी चैनल से बातचीत में बीजेपी के राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने बयान देते हुए कहा कि पाकिस्तान समर्थक लोगों ने चंदन की हत्या की है.

उन्होंने कहा, ‘कासगंज में जो कुछ हुआ वह दुखद है. वहां जल्दी से कोई तनाव होता नहीं है.

वहां पाकिस्तान परस्त लोग आ गए हैं, जो राष्ट्रीय ध्वज को स्वीकार नहीं कर रहे हैं.

वे पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगा रहे हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

योगी सरकार द्वारा Kasganj riot से निपटने को लेकर की कार्रवाई की सराहना करते हुए कटियार ने कहा, ‘सरकार कड़े कदम उठा रही है.

अभी और कड़े कदम उठाने की जरूरत है. सरकार ने एसआईटी का गठन कर दिया कोई अपराधी बचने नहीं पाएगा.

योगी सरकार में मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने सांप्रदायिक दंगे को छोटी घटना करार  दिया है.

सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि किसी घटना को इतना तूल नहीं दिया जाना चाहिए.

यह एक छोटी घटना है, जिसमें दो लोगों के साथ हादसा हुआ है.

इस बीच केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि यह घटना बताती है कि राष्ट्रविरोधी तत्व तिरंगा यात्रा को बर्दाश्त नहीं कर सकते.

उन्होंने कहा, ‘यूपी सरकार कड़े ऐक्शन ले रही है. इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए.’

उधर पिछले पांच दिनों से हिंसा की चपेट में आए कासगंज में स्थिति सुधरने का नाम नहीं ले रही है.

यहां पर मंगलवार को मंगलवार को कासगंज के अमनपुर इलाके में स्थित धार्मिक स्थल में तोड़फोड़ की घटना सामने आ गई.

प्राप्त जानकारी के अनुसार मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल को भेजा गया है.

कासगंज के अमनपुर इलाके में धार्मिक स्थल में तोड़फोड़ की घटना आई सामने

पुलिस ने नजरे गेट इलाके से कुछ लोगों को हिरासत में लिया था इसको लेकर विरोध-प्रदर्शन की खबरें आईं है बाजार नहीं खुले.

जिले में इंटरनेट सेवा बहाल कर दिया गया है, हिंसा के आरोपी मोहसिन नामक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

गौरतलब है कि कासगंज में गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगा यात्रा के दौरान दो समुदायों में विवाद में

अभिषेक गुप्ता उर्फ चंदन नामक युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी. इसके बाद से कासगंज हिंसा की चपेट में है.

यह भी पढ़ें: Violent kasganj में उपद्रवियों ने दुकान में आग लगाई

इधर, कासगंज हिंसा के बाद योगी सरकार कानून-व्यवस्था को लेकर विपक्ष के निशाने पर है.

योगी के सख्त रूख के बाद यूपी के पुलिस महानिदेशक ओ. पी. सिंह ने कासंगज हिंसा को लेकर,

सभी जिलों के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने का निर्देश जारी किया.

पुलिस महानिदेशक की ओर से सोमवार देर रात जारी निर्देश में कहा गया कि किसी भी

सांप्रदायिक तनाव के बाद दोषियों का अतिशीघ्र पता लगाकर कार्रवाई की जाए.

अराजक तत्वों के मंसूबों को समय रहते निष्क्रिय करें. इसके लिए इंटेलिजेंस रिपोर्ट, लोकल इंटेलिजेंस यूनिट और जनता से भी सहयोग लिया जाए.

जिन स्थानों पर सांप्रदायिक घटनाएं हुई हैं, वहां अराजक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाए.

जनपद स्तर पर महत्वपूर्ण अवसरों, जैसे धार्मिक पर्व, रैली, शोभा यात्रा आदि का वार्षिक कैलेंडर रखा जाए

और सांप्रदायिक घटना के बाद जुलूस निकालने की संभावना को देखते हुए पर्याप्त सुरक्षा दी जाए.

Follow us on Facebook.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here