हाई ब्‍लड प्रेशर के लक्षणों के बारे में जानकारी

0
88
हाई ब्‍लड प्रेशर

हाई ब्‍लड प्रेशर की कभी ना करें अनदेखा,

हाई ब्‍लड प्रेशर आधुनिक जीवनशैली में आम स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या बन गई है।

सेहतमंद रहने के लिए ब्‍लड प्रेशर सामान्य रहना बहुत जरूरी है।

सामान्य स्वास्थ्य वाले व्यक्ति का उच्चतम ब्‍लड प्रेशर 120 तथा न्यूनतम 80 होता है।

एक अनुमान के मुताबिक, दुनिया में बड़ी संख्‍या में लोग हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या से ग्रस्‍त हैं।

हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या में धमनियों में रक्‍त का दबाव बढ़ जाता है।

दबाव की इस वृद्धि के कारण धमनियों में रक्‍त प्रवाह सुचारू बनाये रखने के लिये दिल को अधिक काम करने की आवश्यकता पड़ती है।

अधिकतर लोग इस समस्‍या को अनदेखा कर देते हैं।

कुछ ही लोग दवाओं का सेवन कर ब्‍लड प्रेशर को सामान्‍य रखते हैं।.

यदि आप खुद से प्‍यार हैं, तो ब्‍लड प्रेशर को नियंत्रण में रखें।

प्रारंभिक लक्षण:उच्‍च रक्‍तचाप के प्रारंभिक लक्षण में संबंधित व्‍यक्ति के सिर के पीछे और गर्दन में दर्द रहने लगता है।

कई बार इस तरह की परेशानी को वह नजरअंदाज कर जाता है, जो आगे चलकर गंभीर समस्‍या बन जाती है।

तनाव:यदि आप खुद को ज्‍यादा तनाव में महसूस कर रहे हैं, तो यह उच्‍च रक्‍तचाप का संकेत हो सकता है।

ऐसे में व्‍यक्ति को छोटी-छोटी बातों पर गुस्‍सा आने लगता है।

कई बार वह सही-गलत की भी पहचान भी नहीं कर पाता। किसी भी समस्‍या से बचने के लिए जरूरी है कि आप जांच करा लें।

हाई ब्‍लड प्रेशर के लक्षणों के बारे में जानकारी होंना हर किसी के लिये आवश्यक है।

 

  • सिर चकराना: उच्‍च रक्‍तचाप के लक्षणों में सिर चकराना भी आम है।

कई बार शरीर में कमजोरी के कारण भी सिर चकराने की परेशानी हो सकती है।

ऐसे कोई लक्षण दिखाई दें, तो पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श कर लें।

Click To Read More About Health Topics

  • थकान महसूस होना: यदि आपको थोड़ा काम करने पर थकान महसूस होती है ।

जरा सा तेज चलने पर परेशानी होती है या फिर आप स‍ीढि़यां चढ़ने में काफी थक जाते हैं।

तब भी आप उच्‍च रक्‍तचाप से ग्रस्‍त हो सकते हैं।

  • सांस लेने में परेशानी: सांस न आना, लंबी सांस आना या सांस लेने में परेशानी होने पर एक बार अपने चिकित्‍सक से संपर्क करें।

ऐसे में व्‍यक्ति के उच्‍च रक्‍तचाप से ग्रस्‍त होने की प्रबल आशंका होती है।

साथ ही यदि नाक से खून आए, तब भी आपको जांच करानी चाहिए।

  • नींद आने में परेशानी: आमतौर पर उच्‍च रक्‍तचाप के रोगियों के साथ यह समस्‍या होती है कि उन्‍हें रात में नींद आने में परेशानी होती है।

हालांकि यह परेशानी किसी चिंता के कारण या अनिंद्रा की वजह से भी हो सकती है।

  • हृदय की धड़कन तेज होना: तेज यदि आप महसूस करते हैं कि आपके हृदय की धड़कन पहले के मुकाबले तेज हो गई हैं या आपको अपने हृदय क्षेत्र में दर्द महसूस हो रहा है, तो यह उच्‍च रक्‍तचाप का भी कारण हो सकता है।

Follow Us On Facebook

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here